पीएम स्वामित्व योजना Online Registration: Swamitva Yojana Download Property Card 2021

Swamitva Yojana Kya Hai? | स्वामित्व योजना रजिस्ट्रेशन | Swamitva Yojana Card Download | स्वामित्व योजना App Download

आज की हमारी इस पोस्ट में हम बात करेंगे प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के बारे में। प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना का उद्देश्य क्या है? Swamitva Yojana योजना से आपको क्या लाभ मिलेगा और कैसे आप स्वामित्व योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं।

क्या है पीएम स्वामित्व योजना क्या है? (What is Swamitva Yojana 2021)

यह योजना प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा चलाई गई है। प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के अंतर्गत देश के करीब 1 लाख प्रोपटी धारकों का चुनाव हुआ है।

सरकार की तरफ से इन प्रोपटी धारकों के मोबाइल नंबर पर SMS के जरिए एक लिंक भेजा जाएगा यह लिंक प्रोपटी कार्ड का होगा इस लिंक के जरिए प्रोपटी धारक अपना प्रोपटी कार्ड डाउनलोड कर सकते हैं।

इसके बाद संबंधित राज्य सरकारें प्रोपटी कार्ड का स्थानीय स्तर पर भौतिक रूप से वितरण शुरू करेगी। सूत्रों के मुताबिक इस योजना से ग्रामीण राज्यों को भी लाभ मिलेगा। इस योजना के तहत ग्रामीण बैंक से लोन ले सकेंगे।

पीएम स्वामित्व योजना official portal

Scheme Highlights

Name of the SchemePM Swamitva Yojana
Type of SchemeCentral Government Scheme
Launched byPM Narendra Modi Ji
Started on24th April 2020
Nodal MinistryMinistry of Panchayati Raj (MoPR) 
ObjectiveTo provide integrated property validation
for people living in rural India
Official Websiteegramswaraj.gov.in
svamitva.nic.in
पीएम स्वामित्व योजना pm swamitva official website

PM Swamitva Yojana Portal

PM Swamitva Yojana के अंतर्गत जनता की संपत्ति का पूरा ब्यौरा रखा जाएगा। इस योजना के अंतर्गत राजस्व विभाग द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों की जमीन का ब्यौरा इकट्ठा कर उसका एक अलग रिकॉर्ड बनाया जा रहा है।  विवादित जमीनों के मामले के निपटारे के लिए भी राजस्व विभाग द्वारा डिजिटल अरेंजमेंट शुरू किया गया है।

ड्रोन सर्वे के लिए राज्य सरकार पहले बाकायदा एमयू करेंगे। जमीन पर प्रोपर्टी का सीमांकन गांव के लोगों, ग्राम पंचायत, राज्य के राज्य विभाग आदि द्वारा किया जाएगा।

खुला मैदान, सरकारी भूमि, ग्राम पंचायत की जमीन, लोगों की संपत्ति आदि इन स संपत्तियों के निर्धारण हेतु राजस्व विभाग तथा पंचायती राज विभाग सर्वे ऑफ इंडिया की मदद करेगा। सरकार के मुताबिक ग्रामीण रिहायशी संपत्तियों के फायदे को PM Swamitva Yojana के तहत सामने लाना है।

सबसे पहले  गांव की आबादी के रास्ते के आसपास चूने से एक लाइन बनाई जाएंगी। इसके बाद ड्रोन की सहायता से गांव की आबादी या रिहायशी इलाकों की high-resolution 2डी तस्वीर खींची जाएगी। क्या घर पर राजस्व विभाग मकान के नंबर और मकान मालिक को प्रोपर्टी कार्ड जारी करेगा।

सरकार कहती है कि प्रोपर्टी कार्ड बन जाने से ग्रामीण रिहाइशी संपत्ति का मौद्रीकरण हो सकेगा, यानी इन्हें गिरवी रखकर बैंकों या वित्तीय संस्थाओं से कर्ज लिया जा सकेगा। 

Swamitva yojana vision

संपत्ति को सही तरह से चिन्हित करने में ग्राम पंचायत है नागरिकों को बेहतर सुविधा प्रदान कर सकेंगे और भविष्य में प्रोपर्टी टैक्स भी ले सकेंगे जिससे सरकार को भी फायदा होगा।

सरकार के लिए विकास की नीम बनाने में सहायक होगा और कोई भी राज्य सरकार इस नक्शे की सहायता से अपना कार्य संपन्न कर सकेंगे।

इस योजना के तहत संपत्ति से जुड़े मुकदमों और विवादों में कमी आएगी क्योंकि इस योजना के तहत स्वामित्व योजना में पारदर्शिता को महत्व ज्यादा दिया गया है जिससे फर्जीवाड़ा पूर्ण रूप से समाप्त हो जाएगा।

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana (PMFBY) Online Status Check

पीएम स्वामित्व योजना का उद्देश्य

  • ग्रामीण भारत में नागरिकों को वित्तीय स्थिरता लाने के लिए उन्हें ऋण और अन्य वित्तीय लाभ लेने के लिए एक वित्तीय संपत्ति के रूप में अपनी संपत्ति का उपयोग करने के लिए सक्षम करना।
  • ग्रामीण नियोजन के लिए सटीक भूमि रिकॉर्ड का निर्माण
  • संपत्ति कर का निर्धारण, जो सीधे राज्यों में gram panchayat के लिए जमा होता है, जहां यह निर्धारित होता है या फिर, राज्य को जोड़ने के लिए
  • सर्वेक्षण के बुनियादी ढांचे और GIS maps का निर्माण जो किसी भी विभाग द्वारा उनके उपयोग के लिए किया जा सकता है।
PM Swamitva yojana objectives
  • जीआईएस मानचित्रों का उपयोग करके बेहतर गुणवत्ता वाली ग्राम पंचायत विकास योजना (GPDP) तैयार करने में सहायता करना।
  • संपत्ति संबंधी विवादों और कानूनी मामलों को कम करने के लिए
  • इस योजना के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रों की जमीन और संपत्ति का पूरा ब्यौरा आनलाईन देखा जा सकेगा जिससे संपत्ति से संबंधित होने वाले फर्जीवाड़े भी समाप्त हो जाएंगे तथा किसानों को उनकी जमीन के रिकॉर्ड में पारदर्शिता नज़र आएगी।
  • इस योजना के अंतर्गत ज़मीन और संपत्ति की मैपिंग भी की जाएगी ताकि संपत्ति का मालिकाना हक सही मालिक को मिले।

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना का लाभ कैसे मिलेगा

1.इस योजना के तहत संपत्ति संबंधी मामलों की प्रक्रिया का निपटारा करना है तथा यह प्रक्रिया सरल‌ हो इस बात का भी विशेष ध्यान रखा जाएगा।

2.इस योजना के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रों की जमीन की मैपिंग की ड्रोन के जरिए होगी।

3. संपत्ति विवाद के मामलों का निपटारा तथा यह प्रक्रिया में पारदर्शिता को अहम स्थान दिया जाएगा।

4. PM Swamitva Yojana के तहत ग्रामीण किसानों को लोन की सुविधा भी उपलब्ध कराईं जाएगी।

PM Swamitva scheme benefits

Services Available on Swamitva Portal

  • Property Card Distributed
  • Property Card Prepared
  • Final Maps Generated (SOI)
  • Enquiry Process Completed (SOI)
  • Data Processing Completed (SOI)
  • Drone Survey Completed (SOI)
  • Chunna Marking Completed
  • Data Entry Status For Drone Report (State)
  • Actual Drone Flying Schedule & Drone Flying Status Check

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना ग्रामीण स्तर पर

पीएम स्वामित्व योजना के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रों की आबादी का मालिकाना हक गांव के नागरिकों को सौंप दिया जाएगा। इस योजना के तहत अभी तक 653 गांव जुड़ गए हैं। इस योजना की शुरुआत में एक घरौनी निर्मित की जायेंगी जिसका उपयोग गांव के सभी लोग कर पायेंगे।

घरौनी प्रदान करने हेतु ड्रोन द्वारा एक सर्वे किया जाएगा और इसके पश्चात जो गांव चुने जाएंगे उस आबादी की जमीन का मानचित्र बनाया जाएगा।

इसके बाद रखवा निर्धारण किया जाएगा और मामलों से संबंधित आपत्तियां सुनी जाएगी। सभी आपत्तियों को सुनने के बाद जमीन का पूरा रिकॉर्ड राजस्व विभाग में फीड कर दिया जाएगा और इसके बाद घरौनी और खतौनी की एक कापी प्रदान की जाएगी।

Swamitva Yojana के अंतर्गत 653 ग्रामीण इलाकों में कार्य शुरू करा दिया गया है। जल्द बाकी ग्रामीण इलाकों में भी कार्य आरंभ हो जाएगा।

PM Swamitva Yojana Property Card Details

प्रधानमंत्री जी ने ग्रामीण क्षेत्रों की जमीन का कोई ब्यौरा न होने पर एक अहम फैसला लिया। प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के तहत अब गांव की आबादी की जमीन का रिकॉर्ड रखा जाएगा जिससे जमीन से जुड़े विवादित मामले भी कम होंगे।

इस योजना के तहत राज्य सरकार द्वारा जमीन के मालिकाना हक के कागजात के साथ साथ डिजिटल प्रोपटी कार्ड भी गांवों के नागरिकों को सौंपे जाएंगे।

Swamitva Yojana के तहत अब ग्रामीण क्षेत्रों की जमीन का पूरा ब्यौरा डिजिटली रूप में यानि आनलाईन सुरक्षित रखा जाएगा ताकि भूमि मामलों पर लूट तथा फर्जीवाड़े जैसी समस्याएं समाप्त हो जाएं। ग्रामीण लोग अपनी संपत्ति का ब्योरा आनलाईन देख सकेंगे।

इस योजना में गांव की पूरी संपत्ति की मैपिंग का प्रावधान भी रखा गया है। सरकार द्वारा आयोजित किया गया इ-पोर्टल उन्हें ज़मीन से संबंधित Certificate भी देगा।

प्रधानमंत्री ने इस योजना की तहत यह भी ऐलान किया कि हर वर्ष प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना 2020 के आधार पर पंचायत राज दिवस मनाया जाएगा और पुरस्कार की राशि भी रखी जाएगी। इस योजना से गांव की जमीन से जुड़े विवाद खत्म होंगे और ग्राम समाज के विकास में मदद भी मिलेगी।

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के चरण

1.PM Swamitva Yojana का पूरा कार्यकाल 4 वर्ष के अंदर चरणबद्ध ढंग से सुनिश्चित किया जाएगा।

2. यह वर्ष 2020 से वर्ष 2024 के अंतर्गत पूरा किया जाएगा तथा इसमें देश के लगभग 6.62 लाख गांवों को शामिल किया जाएगा।

3. आरंभिक चरण में एक लाख गांवों को स्वामित्व योजना का लाभ मिलेगा तथा यह आरंभिक चरण 2020-21 के बीच पूरा किया जाएगा।

4. आरंभिक चरण में उत्तर प्रदेश, हरियाणा, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, उत्तराखंड और कर्नाटक के गांवों के साथ पंजाब और राजस्थान के सीमावर्ती गांव भी शामिल होंगे। पंजाब और राजस्थान में नियमित प्रचालन प्रणाली स्टेशन (सीओआरएस) नेटवर्क भी स्थापित किया जाएगा।

5.इन सभी राज्यों ने सर्वे ऑफ इंडिया के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं जिसके तहत इस योजना के क्रियान्वयन के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में ड्रोन सर्वेक्षण किया जाएगा। इन राज्यों ने डिजिटल संपत्ति कार्ड के प्रारूप और जिन गांवों में ड्रोन सर्वेक्षण किया जाना है उसे अंतिम रूप दे दिया है।

पंजाब और राजस्थान में सीओआरएस नेटवर्क की स्थापना के लिए सर्वे ऑफ इंडिया से समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं ताकि भविष्य में ड्रोन उड़ाने संबंधी गतिविधियों को संचालित करने में मदद की जा सके।

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना आनलाईन आवेदन प्रक्रिया

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना में आनलाईन आवेदन हेतु आपको दिए गए स्टेप्स के द्वारा करना होगा-:

1.सबसे पहले आपको प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना की आफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा।

2.वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने Homepage आएगा। इस Homepage पर आपको New registration आप्शन नज़र आएगा उस पर क्लिक करें।

3.New registration पर क्लिक के बाद आपके सामने एक Form आ जाएगा।

4.अब इस फार्म में जो भी जानकारी आपसे पूछी गई हो उसे भली प्रकार भर दें।

5.पूरा फार्म भरने के बाद नीचे आपको एक submit आप्शन नज़र आएगा उस बटन पर क्लिक करें और अपना फार्म सबमिट कर दें।

6.अब आपके आवेदन की प्रक्रिया पूरी हो जाती है। योजना से जुड़ी अब हर जानकारी आपके फोन‌ नंबर पर SMS द्वारा आएगी।

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना प्रोपटी कार्ड डाउनलोड प्रक्रिया

1.PM Swamitva Yojana की वेबसाइट पर जाएं और PM Modi बटन पर क्लिक करें।

2. आपके मोबाइल पर SMS के जरिए एक लिंक आएगा और उस लिंक पर क्लिक करें।

3. अब आपका प्रोपटी कार्ड डाउनलोड करने का आप्शन आएगा।

4. वहां से अपना प्रोपटी कार्ड डाउनलोड करें।

5. इसके बाद राज्य सरकारें भौतिक रूप से संपत्ति कार्ड का वितरण शुरू करेगी।

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना की चुनौतियां

1.भारत के ग्रामीण क्षेत्रों में अधिकतर परिवार संयुक्त परिवार है तथा संयुक्त परिवार में आवासीय संपत्ति का बंटवारा करना कठिन हो जाता है। प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के अंतर्गत राजस्व विभाग गांवों को संपत्ति कार्ड बांटेगा ताकि व्यक्ति को उसके मालिकाना हक प्राप्त हो सकें। परंतु यह एक चुनौती पूर्ण कार्य है।

2.वर्तमान में ग्रामीण क्षेत्रों में संपत्ति से जुड़े प्रामाणिक दस्तावेज़ों का अभाव है। इस स्थिति में स्वामित्व योजना चुनौती आ सकती है, क्योंकि Swamitva Yojana लागू करने का एक मुख्य ध्येय ग्रामीण क्षेत्रों में संपत्तियों से जुड़े आंकड़ों में सुधार करना है।

3. ग्रामीण लोगों के पास संपत्ति से संबंधित पूर्ण दस्तावेज न होने के कारण Swamitva Yojana विवादों में घिर सकती है।

संपत्ति से जुड़ी हर प्रदेश की अपनी समस्याएं है। मध्यप्रदेश में अवैध कब्जों की समस्या है तो उत्तर प्रदेश में अवैध कब्जों पर सरकार बहुत सख्ती दर्शाती है।

मध्य प्रदेश के उन आदिवासियों को भी समस्या आएगी जो गैर कानूनी तरीके से आवास कर रहे हैं क्योंकि उन पर संपत्ति से संबंधित दस्तावेज के कोई सबूत नहीं है।

ग्रामीण क्षेत्रों में कई ऐसे दबंग लोग होते हैं जो कई संपत्तियां अपने नाम होने का दावा करते हैं ऐसे में सरकार इन बेहिसाब अचल संपत्तियों का हिसाब रखेगी तथा जमीन के सही मालिक को ढूंढेंगी।

इस पर राजस्व विभाग के जानकार कहते हैं, अगर कोई घर 20 साल से खाली है तो उसकी दशा भी खराब हो गई होगी. उसके मालिक लोग आते रहते हैं तो घर की दशा अलग होगी. घर के मालिक का नाम तो सरपंच या कोटवार बता देंगे और उस मकान को इस प्रक्रिया में शामिल कर लिया जाएगा।

PM Swamitva Yojana App Download

  • सबसे पहले अपने मोबाइल में google play store एप में जाएं
  • अब सर्च बार में, e-gramswaraj दर्ज करें
egramswaraj mobile app
  • उसके बाद स्क्रीन पर दिखाए गए पहले ऐप को डाउनलोड और इंस्टॉल करें
  • अंत में PM Swititva e-GramSwaraj ऐप आपके मोबाइल में सफलतापूर्वक इंस्टॉल हो जाएगा

Conclusion of Swamitva Yojana

हमारी पोस्ट में बताएं गए स्टेप्स के द्वारा आप आनलाईन आवेदन की प्रक्रिया शुरू करें और इस योजना का लाभ उठाएं। इसके द्वारा ग्रामीण युवा जो बेरोजगार हैं उन्हें ऋण देने का प्रावधान भी प्रधानमंत्री  स्वामित्व योजना के अंतर्गत रखा गया है।

इस योजना के शुरू होने से ग्राम पंचायतों में होने वाली धांधली जमीनों पर कब्जा और भूमाफिया ऊपर लगाम लगेगी ग्राम स्वराज पोर्टल की सहायता से ग्रामीण लोग अपनी जमीनों से संबंधित सभी जानकारी ऑनलाइन देख सकेंगे। यदि आपको हमारी पोस्ट पसंद आई हो तो इसे लाइक और शेयर जरुर करें।

Leave a comment

Scholarship Status: NSP Portal