यूपी महिला सामर्थ्य योजना 2021, संपूर्ण जानकारी: UP Mahila Samarthya Yojana

नमस्कार दोस्तों, हमारे देश के विकास में हर आयु वर्ग का विशेष योगदान माना  गया है फिर वह चाहे पुरुष  हो या फिर कोई महिला|  आपने इस बात पर गौर किया होगा कि आजादी के बाद से ही भारत सरकार ने महिलाओं के लिए कई सारे ऐसे कार्यक्रमों की स्थापना की है जिनके माध्यम से महिलाएं खुद को सशक्त और मजबूत बना सकें| 

विशेष योजनाओं  के माध्यम से महिलाओं को भारत देश में विशेष दर्जा प्राप्त हुआ है जिसके माध्यम से महिलाएं आगे बढ़ कर खुद को आत्मनिर्भर बना सकती हैं| 

आज हम आपको भारत के मुख्य राज्य उत्तर प्रदेश के बारे में जानकारी देंगे, जहां पर महिलाओं के उत्थान के लिए यूपी महिला सामर्थ्य योजना 2021 की शुरुआत कर ली गई है, जो महिलाओं के लिए  अपने जीवन में आगे बढ़ने के लिए बेहतर विकल्प साबित हो सकता है|

अगर आप भी UP Mahila Samarthya Yojana का  लाभ लेना चाहते हैं, तो हमारे इस विशेष लेख को  अंत तक जरूर पढ़ें जिसमें आपको सभी महत्वपूर्ण जानकारियां दी जाएंगी|  जिन  के माध्यम से आप भी यूपी महिला सामर्थ्य योजना का ज्यादा से ज्यादा फायदा उठा सकते हैं|

यूपी महिला सामर्थ्य योजना की शुरुआत

उत्तर प्रदेश में लगातार महिलाओं की स्थिति को देखते हुए  उत्तर प्रदेश सरकार ने महिलाओं के हित में यूपी महिला सामर्थ्य योजना की शुरुआत 22 फरवरी 2021  से  की  है| जिसमें लगभग 220 करोड़ रुपए का बजट निर्धारित किया गया है| 

UP Mahila Samarthya Yojana को यूपी बजट 2021-22 के तहत घोषित किया गया है, जिसे महिलाओं के लिए महत्वपूर्ण योजनाओं में से एक योजना माना गया है जिससे उत्तर प्रदेश की हर महिला लाभ ले सकती है और खुद को स्थापित भी कर सकती है|

आखिर UP Mahila Samarthya Yojana की आवश्यकता क्यों है

हम सभी को ज्ञात है कि भारत में उत्तर प्रदेश एक वृहद राज्य के रूप में जाना जाता है, जहां लगभग आधी जनसंख्या पुरुषों की और एक तिहाई  से ज्यादा जनसंख्या महिलाओं की है। 

इनमें काफी हद तक जनसंख्या गरीबी रेखा के नीचे आती है और इस वजह से कई बार महिलाओं को सूक्ष्म उद्योग करके अपने गृहस्थी को आगे बढ़ाने की जिम्मेदारी निभानी पड़ती है| ऐसे में उत्तर प्रदेश में महिला सामर्थ्य योजना एक महती भूमिका निभाती है, जो किसी  भी  महिला को आगे बढ़ाने के लिए  महत्वपूर्ण है| 

जब भी कोई महिला किसी भी प्रकार के उद्योग को चलाती है, तो उसे कई सारी कमियों का सामना करना पड़ता है इन सारी कमियों को दूर करने के लिए ही महिला समर्थ योजना की आवश्यकता यूपी में  है।

विकलांग पेंशन लिस्ट उत्तर प्रदेश

यूपी महिला सामर्थ्य योजना का महत्वपूर्ण उद्देश्य

इन आंकड़ों के अनुसार  उत्तर प्रदेश में लगभग 92 लाख सूक्ष्म और लघु उद्योग महिलाओं द्वारा चलाए जाते हैं|  UP Mahila Samarthya Yojana के माध्यम से महिला को कई प्रकार की सुविधाएं दी जाएंगी जिसके माध्यम से अपने उद्योग  को और भी वृहद रूप से महिलाएं आगे बढ़ा सकती हैं और अच्छे परिणाम भी प्राप्त किए जा सकते हैं।

कुछ महिलाएं ऐसी होती हैं जो घर से ज्यादा बाहर नहीं निकलती ऐसी अवस्था में भी महिलाओं को आत्मनिर्भर  बनाने के लिए यूपी महिला सामर्थ्य योजना की शुरुआत की गई है। साथ ही साथ इससे औद्योगिक क्षेत्र में ही विकास किया जा सकेगा,  जो निश्चित रूप से सही है|

यूपी महिला सामर्थ्य योजना के मुख्य बिंदु

  1. यह योजना मुख्य रूप से उत्तर प्रदेश की महिलाओं के लिए शुरू की गई है|
  2.  UP Mahila Samarthya Yojana के माध्यम से महिलाएं अपने लघु और सूक्ष्म उद्योग में विस्तार  ला सकती हैं|
  3.  इस योजना के माध्यम से महिलाएं खुद के अंदर आत्मविश्वास पैदा करके  अपनी गृहस्थी को  सही दिशा में आगे बढ़ा सकती है|
  4.  यूपी महिला सामर्थ्य योजना के माध्यम से महिलाओं को रोजगार करने के लिए प्रेरित किया जाएगा जिससे  उन्हें   बेहतर विकल्प  प्राप्त हो सकेंगे|
  5.  इस योजना के तहत  सरकार के द्वारा महिलाओं को उचित मार्गदर्शन दिया जाएगा|  साथ ही साथ  लगभग एक तिहाई  खर्च  सरकार के द्वारा  वहन किया जाएगा|
  6.  महिलाओं द्वारा चलाए गए उद्योगों को यूपी महिला सामर्थ्य योजना के माध्यम से आसपास के इलाकों में भी  विकसित किया जाने का प्रावधान रखा गया है|

मुख्य मंत्री अभ्युदय योजना

यूपी महिला सामर्थ्य योजना के लिए  उपयोग में आने वाले मुख्य दस्तावेज

अगर आप उत्तर प्रदेश की नागरिक हैं और आप भी UP Mahila Samarthya Yojana का लाभ लेना चाहती हैं, ऐसे में आपके पास इन मुख्य दस्तावेजों का होना जरूरी माना गया है

  1. उत्तर प्रदेश का निवास प्रमाण पत्र
  2.  आधार कार्ड
  3.  राशन कार्ड
  4.  वोटर आईडी कार्ड
  5.  आय प्रमाण पत्र
  6.  बैंक खाता विवरण
  7.  पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  8.  मोबाइल नंबर

यूपी महिला सामर्थ्य योजना के अंतर्गत आवेदन की क्या है प्रक्रिया

अगर आप भी महिला होते हुए खुद का  मार्ग प्रशस्त करना चाहती हैं, तो इसके लिए आपको इस योजना के लिए पंजीकरण करना होगा।

UP Mahila Samarthya Yojana के लिए आवेदन ऑनलाइन माध्यम से किया जा सकेगा जो बेहद ही सरल और सुगम तरीके से निर्धारित किया जाता है|  इसके लिए आपको किसी प्रकार की दिक्कत का सामना करना नहीं पड़ेगा लेकिन इसके लिए अभी आपको कुछ समय इंतजार करना पड़ सकता है

क्योंकि जल्द ही उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा यूपी महिला सामर्थ्य योजना की आवेदन की प्रक्रिया आगे बढ़ाते हुए सक्रिय किया जाएगा फिलहाल अभी  सिर्फ इस योजना की घोषणा की गई है| 

यूपी महिला सामर्थ्य योजना के लिए गठित की गई दो समितियां

इस योजना को उत्तर प्रदेश के लिए महत्वपूर्ण योजना के रूप में माना जा रहा है जो महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए अनिवार्य होगी। 

UP Mahila Samarthya Yojana को सही दिशा में आगे बढ़ाया जा सके इसके लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने दो प्रकार की समितियों का गठन किया है जिन्हें राज्य और जिला स्तरों पर कार्य करना होगा।

जिसके अंतर्गत जिला स्तर समिति का गठन मजिस्ट्रेट की अध्यक्षता में की जाएगी और राज्य स्तरीय संचालन समिति द्वारा भी  यूपी महिला सामर्थ्य योजना को आगे बढ़ाया जाएगा|

यूपी महिला सामर्थ्य योजना से दी जाने वाली सुविधाएं

जिसके अंतर्गत लगभग 150 – 200 विकास खंडों में यूपी महिला सामर्थ्य योजना का समन्वय करते हुए सुविधा प्रदान की जाएगी जिसके अंतर्गत महिलाओं को सामान्य तरीके से रोजगार करना, प्रशिक्षण देना, अपने रोजगार का विकास करना, बारकोडिंग करना, लेबल करना जैसी सुविधाएं प्रदान की जाएंगी| 

साथ ही साथ UP Mahila Samarthya Yojana के तहत गांव और शहरों में भी परामर्श केंद्र खोले जाएंगे जहां पर महिलाएं अपने जिज्ञासा को खत्म कर सकती हैं और कई प्रकार के प्रशिक्षण कार्यक्रमों का भी आयोजन किया जा सकेगा| 

किसी प्रकार की दिक्कत होने पर महिला गठित समिति के पास जाकर अपनी समस्या बता सकती हैं और सही निवारण  प्राप्त किया जा सकता है|

UP Mahila Samarthya Yojana का आवश्यक रूप से  ले लाभ

कई बार ऐसा होता है की जानकारी के अभाव में महिलाएं  UP Mahila Samarthya Yojana का लाभ नहीं ले पाती और कई बार वे घर से बाहर ही नहीं निकलती है|  ऐसे में महिलाएं कई प्रकार की योजनाओं से पीछे हट जाती हैं और उन्हें उसका सही लाभ मिल नहीं पाता। 

देश और राज्य में किसी भी प्रकार की योजनाओं में  भागीदारी महिलाओं की भी होती है। ऐसे में महिलाओं का कर्तव्य बनता है कि वह  अपने राज्य की सभी योजनाओं का सही तरीके से लाभ प्राप्त कर सकें| 

ऐसे में महिलाओं को स्वयं जागरूक होकर आगे बढ़ना होगा ताकि निश्चित रूप से लाभ प्राप्त हो सके और किसी प्रकार की दिक्कत ना होने पाए| ऐसे में हम  पूरी उम्मीद करते हैं कि उत्तर प्रदेश की महिलाएं आगे बढ़कर यूपी महिला सामर्थ्य योजना का  लाभ अवश्य लेगी और खुद को स्थायित्व प्रदान करें|

अंतिम शब्द

इस प्रकार से हमने जाना कि यूपी महिला सामर्थ्य योजना 2021 उत्तर प्रदेश की महिलाओं के लिए महत्वपूर्ण योजना के रूप में सामने आ रही है जिसे जल्द से जल्द  सक्रिय  करने की योजना बनाई जा रही है। 

जिसके माध्यम से महिलाओं को एक नया आयाम प्राप्त हो पाएगा और वह भी खुद के उद्योग को स्वता ही आगे बढ़ा  पाएंगी|  यह एक बहुत ही महत्वपूर्ण योजना है जिसका लाभ लेकर महिलाएं निश्चित रूप से सही दिशा निर्देश की तरफ आगे बढ़ सकती हैं|

 उम्मीद करते हैं आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी पसंद आई होगी|  इस लेख को पढ़ने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद|

Leave a comment