प्रधानमंत्री लघु उद्योग योजना: PMEGP Scheme List 2021, Subsidy & Online Registration

PMEGP Scheme List 2021 | PMEGP Apply Online | PMEGP application status | PMEGP subsidy details

आज हम बात करने वाले हैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा उभरते हुए युवाओं को अपने व्यवसाय को स्थापित करने की प्रेरणा को प्रोत्साहन देने के लिए चलाई गई प्रधानमंत्री लघु उद्योग योजना (PMEGP) के बारे में।

प्रधानमंत्री उद्योग योजना (PMEGP में ऑनलाइन आवेदन कैसे करें उद्योग योजना के लिए क्या पात्रता रहेगी तथा प्रधानमंत्री उद्योग योजना(PMEGP) का लाभ एवं उद्देश्य क्या है तथा इसके लिए कौन-कौन व्यक्ति या युवा आवेदन कर सकता है इसकी जानकारी भी आपको हमारी पोस्ट प्रधानमंत्री उद्योग योजना(PMEGP) में मिलेगी।

प्रधानमंत्री लघु उद्योग योजना 2021 क्या है?

कोरोनावायरस जैसी महामारी के कारण देशभर के कई लोग अपने व्यवसाय तथा नौकरी से वंचित हो गए इस महामारी के कारण लोगों की आर्थिक स्थिति एवं उनका काम बहुत ही बुरी तरह से प्रभावित हुआ ऐसे में यह आवश्यकता थी की अब अपनी क्षमताओं के बल पर स्वयं का व्यवसाय फिर से या नए सिरे से शुरू किया जाए एवं अपनी आर्थिक स्थिति को ठीक किया जाए सरकार भी आए दिन इस मामले पर चर्चा करती रहती है तथा स्वयं के व्यवसाय को सरकार ने हमेशा ही प्रोत्साहन दिया है

सरकार का हमेशा यह कहना रहा है कि युवाओं को स्वयं के व्यवसाय के प्रति सजग रहना चाहिए तथा उन्हें खुद का एक व्यवसाय स्थापित करना चाहिए इसी उद्देश्य तथा देश में मंदी की स्थिति को देखते हुए और युवाओं को व्यवसाय के प्रति तथा लोकल फॉर वोकल को प्रोत्साहन मिले इसीलिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री उद्योग योजना का ऐलान किया।

MSME Udyam Registration Certificate Online

किसी भी व्यवसाय को शुरू करने के लिए पूंजी की आवश्यकता होती है इसीलिए प्रधानमंत्री उद्योग योजना के तहत रोजगार के अवसर देने के लिए तथा आर्थिक सहायता के रूप में युवाओं तथा बेरोजगारों को व्यवसाय के लिए लोन दिया जाएगा।

प्रधानमंत्री लघु उद्योग योजना (PMEGP) केंद्र सरकार द्वारा बेरोजगार युवाओं को अपने व्यवसाय के प्रति प्रोत्साहन एवं आर्थिक सहायता के उद्देश्य से चलाई गई योजना है।

इस योजना के तहत जो युवा एवं व्यक्ति स्वयं का कोई व्यवसाय स्थापित करना चाहता है तो उसे केंद्र सरकार की तरफ से आर्थिक सहायता के रूप में ₹10 से लेकर 25 लाख तक की राशि लोन के रूप में प्राप्त होगी।

प्रधानमंत्री लघु उद्योग योजना (PMEGP) का लाभ ग्रामीण तथा शहरी दोनों स्तर के युवा उठा सकेंगे। इस योजना से उभरते हुए युवाओं को अपने व्यवसाय करने के लिए प्रोत्साहन तथा आर्थिक सहायता मिलेगी जिससे उनके भविष्य में सुधार आएगा तथा बेरोजगारों को रोजगार मिलेगा।

PMEGP Scheme 2021 आवेदन के लिए योग्यता

वह व्यक्ति या युवा जो स्व-रोजगार तथा स्वयं के व्यवसाय की दृष्टि से आर्थिक सहायता केंद्र सरकार से चाहते हैं तो वह प्रधानमंत्री लघु उद्योग योजना(PMEGP) 2021 के लिए आवेदन कर सकते हैं। प्रधानमंत्री लघु उद्योग योजना के आवेदन हेतु नीचे दिए गए पात्रता का होना आवश्यक है जैसे-:

1.युवा तथा व्यक्ति की उम्र 18 वर्ष होनी चाहिए।

2. स्वरोजगार लोन हेतु युवा का कक्षा आठवीं में पास होना आवश्यक है।

3. इस योजना में केवल वही आवेदन कर सकते हैं जिन्होंने स्वरोजगार लोन जैसी पहले कई समान योजनाओं में भाग ना लिया हो।

4. यदि युवा या व्यक्ति प्रधानमंत्री लघु उद्योग योजना की सारी शर्तों के लिए मान्य तथा योग्य होता है तभी वह इस योजना के लिए आवेदन कर सकता है।

प्रधानमंत्री लघु उद्योग योजना के महत्वपूर्ण उद्देश्य

1.PMEGP का उद्देश्य ग्रामीण तथा शहरी स्तर के बेरोजगार या युवा को नया स्वरोजगार लघु  उद्योग स्थापित करने के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करना है।

2. ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों का शहरी क्षेत्रों में आकर निवास करना तथा शहर में आकर छोटे धंधे या व्यवसाय स्थापित करना एवं उनके के बंद हो जाने पर उनकी आय का भी बंद हो जाना आदि इन सब के निवारण हेतु इस योजना के तहत उनको स्वरोजगार उद्योग लगाने के लिए आर्थिक सहायता प्रदान की जाए ताकि उनकी आय में कमी ना आए एवं स्थाई रूप से व्यवसाय चलाते रहे।

3. ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों की आय में वृद्धि करना तथा शहरी तथा ग्रामीण स्तर पर रोजगार को स्थापित करना एवं बेरोजगारी को कम करना भी प्रधानमंत्री लघु उद्योग योजना का उद्देश्य है।

आवेदन हेतु महत्वपूर्ण दस्तावेज

1.उद्योग या प्रोजेक्ट संबंधी रिपोर्ट का होना आवश्यक है।

2. आवेदक का पैन कार्ड होना आवश्यक है।

3. लाभार्थी का कक्षा आठवीं में पास होना अनिवार्य है।

4. लाभार्थी के पास आधार कार्ड होना आवश्यक है।

5. लाभार्थी का पहचान तथा निवास प्रमाण पत्र होना का आवश्यक है।

6. उद्यमी विकास कार्यक्रम (EDP) प्रशिक्षण का प्रमाण पत्र होना चाहिए।

7. SC/ST/OBC/PWD/PHC / भूतपूर्व सैनिक आदि के प्रमाण हेतु प्रमाण पत्र आवश्यक है।

8. शैक्षिक और तकनीकी प्रमाण पत्र का होना आवश्यक है।

प्रधानमंत्री लघु उद्योग योजना हेतु ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया

1.सबसे पहले लाभार्थी को प्रधानमंत्री लघु उद्योग योजना की अधिकारिक वेबसाइट http://kviconline.gov.in/pmegp/  पर जाना होगा।

2. अधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने एक homepage खुलकर आ जाएगा इस homepage पर आपको PMEGP ऑप्शन नजर आएगा उस ऑप्शन पर क्लिक करें।

3. अब आपको प्रधानमंत्री लघु उद्योग योजना के इस पेज पर PMEGP E- Portal दिखाई देगा एवं इस ऑप्शन पर क्लिक करें।

4. अब आपके सामने ऑनलाइन आवेदन हेतु एक online application form of individual आ जाएगा और अब इस फॉर्म को ध्यान पूर्वक भरे।

5. ऑनलाइन एप्लीकेशन फॉर्म के अंतर्गत आपसे व्यक्तिगत जानकारी जैसे आधार कार्ड नंबर (AADHAR CARD NUMBER), मोबाइल नंबर (MOBILE NUMBER), नाम (NAME OF CANDIDATE), घर का पता (RESIDENCE ADDRESS), राज्य (STATE), लिंग (GENDER), शैक्षिक योग्यता (EDUCATION QUALIFICATION), पैन कार्ड नंबर (PAN CARD NUMBER), बैंक खाता नंबर (BANK ACCOUNT NUMBER), जन्मतिथि (DATE OF BIRTH),  ईमेल आईडी (EMAIL ID) आदि पूछी जाएगी तथा इस जानकारी को ध्यानपूर्वक  भरे।

6. सारी जानकारी एवं एप्लीकेशन फॉर्म के पूर्ण होने के बाद पेज पर दिए गए ऑप्शन SAVE DATA APPLICANT पर क्लिक करें इस प्रकार आपका ऑनलाइन फॉर्म की प्रक्रिया पूर्ण हो जाएगी।

7. अब इस एप्लीकेशन फॉर्म प्रिंट आउट डाउनलोड करके या निकलवा कर अपने पास सुरक्षित रखें एवं जिस शाखा (KVIC, KVIB, D I C) के अंतर्गत आपने ऑनलाइन लोन के लिए आवेदन किया था वहां जाकर अपना यह फॉर्म जमा करा दे।

8. इसके पश्चात नोडल एजेंसी द्वारा जिस शाखा ( KVIC/KVIB/DIC ) का चुनाव किया जाएगा उसके अंतर्गत एक इंटरव्यू होगा एवं यदि आपका स्वरोजगार संबंधी व्यवसाय चुना जाता है तो उसकी सभी जानकारी बैंक को दे दी जाएगी तथा सभी संबंधित दस्तावेज आपको बैंक में जमा कराने होंगे।

9. इसके बाद बैंड द्वारा लघु उद्योग से संबंधित आवेदन को रखा जाएगा तथा बैंक द्वारा लघु उद्योग के स्थान का निरीक्षण किया जाएगा एवं बैंक द्वारा आवेदक को ऋण की मंजूरी दी  जाएगी।

10. सारी प्रक्रिया पूर्ण होने के बाद आपको एक EDP प्रशिक्षण पत्र मिलेगा उस पत्र को आपको उस शाखा (KVIC, KVIB, DIC) के अंतर्गत जमा कराना है जिसके अंतर्गत आपने ऋण के लिए आवेदन किया था।

11. सारी प्रक्रिया पूर्ण होने के बाद सरकार द्वारा बैंक को लोन की राशि सब्सिडी के रूप में भेजी जाएगी।

आर्थिक सहायता श्रेणी अनुसार

1.सामान्य वर्ग (GENERAL CATEGORY) – PMEGP योजना के अंतर्गत सामान्य श्रेणी के आवेदक को लघु उद्योग की कीमत का 10% हिस्सा स्वयं से लगाना होगा। शहरी स्तर पर स्वरोजगार स्थापित करने वाले आवेदकों को सरकार की तरफ से 15% तक सब्सिडी रूप में आर्थिक सहायता के रूप में प्रदान की जाएगी एवं ग्रामीण स्तर पर उद्योग स्थापित करने वाले आवेदकों को 25% तक सब्सिडी रूप में आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।

2. अनुसूचित जाति/जनजाति/अल्पसंख्यक एवं अन्य (SC/ ST/ OBC AND OTHER) – प्रधानमंत्री लघु उद्योग योजना के अंतर्गत अनुसूचित जाति, जनजाति, अल्पसंख्यक तथा अन्य श्रेणी के  आवेदकों को स्वरोजगार आधारित लघु उद्योग की कीमत का 5% हिस्सा स्वयं से लगाना पड़ेगा। शहरी स्तर पर स्वरोजगार स्थापित करने के लिए आवेदक को 25% तक की सब्सिडी तथा ग्रामीण स्तर पर 35% तक की सब्सिडी की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।

3. निर्माण क्षेत्र (MANUFACTURING SECTOR) – निर्माण क्षेत्र के अंतर्गत लघु उद्योग लगाने पूरी कीमत 25 लाख होनी चाहिए तभी आवेदक PMEGP योजना का लाभ उठा सकेगा। यदि लघु उद्योग की पूरी लागत 25 लाख से अधिक होगी तो वह प्रधानमंत्री उद्योग योजना के अंतर्गत स्वरोजगार के लिए लोन हेतु आवेदन नहीं कर पाएगा।

4. सेवा क्षेत्र ( BUSINESS SERVICE SECTOR) – सेवा क्षेत्र के अंतर्गत उद्योग लगाने की पूरी लागत 10 लाख होनी चाहिए। यदि आवेदक उद्योग की लागत 10 लाख से अधिक होगी तो वह प्रधानमंत्री उद्योग योजना के तहत लोन के लिए आवेदन नहीं कर सकेगा।

प्रधानमंत्री लघु उद्योग योजना के अंतर्गत जिला उद्योग के कार्य

1.स्वरोजगार के लिए आवेदन करने वाले को लोन उपलब्ध कराना।

2. स्वरोजगार हेतु आवेदन करने वाले युवाओं तथा आवेदकों के लिए ट्रेनिंग का प्रबंध करना।

3. जिले में अधिक धन का निवेश हो, इसके लिए विभिन्न प्रकार की प्रदर्शनी लगवाना, स्थानीय प्रोडक्ट्स की मार्केटिंग हो सके, इसके लिए जिला स्तर पर कारोबारी मेले का आयोजन कराना।

4. स्थानीय उद्योग स्थापित करने वालों के उद्योग संबंधी समस्याओं जैसे तकनीकी, आर्थिक व सामाजिक दिक्कतों को दूर करना।

5. प्रधानमंत्री लघु उद्योग योजना से संबंधित सारी जानकारी को युवाओं तथा उद्योग स्थापित करने वाले सरल एवं सहज रूप में समझाना।

6. जिले में स्थापित प्रत्येक उद्योग का निरीक्षण करना।

7. जिले में स्थापित उद्योगों के विकास हेतु RESEARCH एवं  TRAINING की व्यवस्था करना।

8. उद्योगों की कच्चे माल की आपूर्ति को पूरा करना जिले का कार्य है।

9. नये उद्योग को स्थापित करने के लिए परमिशन, लाइसेंस, रजिस्ट्रेशन और सब्सिडी दिलाने में मदद करना।

10. युवाओं को सरकार की योजनाओं से परिचित कराना और उन्हें सरकारी सहायता पर स्वरोजगार शुरु करने के लिए प्रेरित करना।

कौन-कौन से उद्योग स्थापित हो सकते हैं?

  • खनिज आधारित उद्योग
  • वनाधारित उद्योग
  • कृषि एवं खाद्य उद्योग
  • रसायन उद्योग
  • इंजीनियरिंग एवं गैर परंपरागत ऊर्जा संबंधित उद्योग
  • वस्त्र आधारित उद्योग
  • सेवा आधारित उद्योग

प्रधानमंत्री लघु उद्योग योजना के लाभ

1.लघु उद्योग में उद्योग स्थापित करने हेतु बहुत ही कम लागत का निवेश करना पड़ता है।

2. आवेदक अपनी क्षमता अनुसार स्थापित कर सकता है तथा इसके लिए सरकार आर्थिक सहायता प्रदान करती है एवं स्वरोजगार स्थापना के लिए युवाओं को रोजगार को प्रेरित भी करती है।

3.  PMEGP योजना के अंतर्गत सरकार बेरोजगार युवाओं एवं स्वरोजगार स्थापित करने वाले युवाओं को 10 लाख से लेकर 25 लाख तक की सब्सिडी प्रदान की जाएगी।

4. इस योजना के अंतर्गत शहरी तथा ग्रामीण स्तर पर स्वरोजगार स्थापित करने वाले युवाओं को आर्थिक रूप में सब्सिडी प्रदान की जाएगी।

5. प्रधानमंत्री लघु उद्योग योजना के तहत स्वरोजगार स्थापित करने वाले बेरोजगार युवाओं को लोन के रूप में उद्योग स्थापित करने के लिए आर्थिक सहायता प्रदान किए जाएगी।

6. शहरी इलाके में PMEGP के लिए नोडल एजेंसी जिला उद्योग केंद्र (DIC) है, जबकि ग्रामीण इलाके में इसके लिए खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड (KVIC) से संपर्क किया जा सकता है।

7. इस योजना के अंतर्गत केवल वही युवा आवेदन कर पाएंगे जो स्वयं का रोजगार प्रारंभ करना चाहते हैं एवं स्वयं का उद्योग लगाना चाहते हैं।

लघु उद्योग को प्रोत्साहन

सरकार आए दिन लघु उद्योग को स्थापित करने के लिए युवाओं तथा बेरोजगारों में प्रोत्साहन बढ़ाती रहती है। सरकार का मानना है कि लोकल फॉर वोकल के तहत यदि बेरोजगार युवा स्वरोजगार व्यवसाय को अपनाएंगे तो देश में कोई भी युवा आर्थिक रूप से अपना व्यवसाय शुरू करने में असक्षम महसूस नहीं करेगा तथा स्वतंत्रता से सरकार द्वारा दी जाने वाली सब्सिडी की सहायता से स्वयं का लघु उद्योग स्थापित कर सकेगा जिससे देश में आत्मनिर्भरता बढ़ेगी तथा लोकल फॉर वोकल को प्रोत्साहन भी मिलेगा।

प्रधानमंत्री लघु उद्योग की सहायता से छोटे स्तर एवं बड़े स्तर के लोगों को व्यवसाय संबंधी लोन प्राप्त करने में बहुत सहायता मिलेगी जिससे बेरोजगारी कई हद तक समाप्त हो सकती है। इस योजना से छोटे व्यवसायियों को बहुत प्रोत्साहन मिलेगा जिससे युवाओं में भी स्वरोजगार स्थापित करने की चेष्टा उजागर होगी।

सरकार चाहती है, कि उद्यमशीलता के क्षेत्र में लोग ज्यादा से ज्यादा अपना सहयोग करें और नए लोगों को भी अपने व्यवसाय के जरिए रोजगार प्रदान करने का कार्य कर सकें। स्वयं का व्यवसाय होने से आत्मनिर्भरता बढ़ती है तथा देश में नए उत्पादन को दिशा मिलती है।

प्रधानमंत्री लघु उद्योग योजना लोन आवेदन फार्म स्टेटस कैसे देखें?

1.सबसे पहले आप PMEGP official Website पर जाएं।

2. अब आपके सामने एक पेज खुल कर आएगा जिसमें आपको log in और password डालकर अपना आवेदन फार्म पर जाएं।

3. आवेदन फॉर्म आपकी स्क्रीन पर दिख जाएगा और इस पेज पर पेज पर आपको View Status ऑप्शन नजर आएगा उस ऑप्शन पर क्लिक करें एवं आपको आवेदन लोन का स्टेटस रिपोर्ट दिख जाएंगी।

Leave a comment

Scholarship Status: NSP Portal